Breaking News

फ्रान्स के ‘नीस’ में हुए आतंकी हमले में तीन की मौत – सुरक्षा के लिए सात हज़ार सैनिकों की तैनाती का ऐलान

पैरिस/नीस – फ्रान्स के नीस शहर में एक प्रार्थना स्थान के करीब हुए आतंकी हमले में तीन लोगों की मौत हो गई। यह हमला चरमपंथियों ने करने की बात स्पष्ट हुई है और हमलावर की गिरफ्तारी होने की भी जानकारी सुरक्षा यंत्रणा ने साझा की। फ्रान्स के राष्ट्राध्यक्ष इमैन्युएल मैक्रॉन ने घटना स्थान पर पहुँचकर जायजा लिया। इसके साथ ही उन्होंने देश की सुरक्षा के लिए सात हज़ार लष्करी सैनिक तैनात करने का ऐलान भी किया है। फ्रान्स सरकार ने देश की सुरक्षा के लिए बने खतरे का स्तर ‘इमर्जन्सी’ तक बढ़ाया है। ‘नीस’ में यह फ्रान्स में इस महीने में हुआ तीसरा आतंकी हमला है।

‘नीस’

गुरूवार की सुबह करीबन ९ बजे नीस में एक प्रार्थना स्थान के करीब एक चरमपंथी ने चाकू से हमला किया। इस दौरान प्रार्थना स्थान के दो लोगों के साथ करीबी इलाके के एक नागरीक की मौत हुई। इनमें एक महिला का भी समावेश है और हमलावर ने इस महिला का सिर कलम करने की जानकारी सामने आयी है। इस हमले के बाद सुरक्षा यंत्रणाओं ने तुरंत कार्रवाई करके हमलावर को हिरासत में लिया है। नीस के मेयर ख्रिस्तियन एस्ट्रोसी ने यह आतंकी हमला होने की जानकारी प्रदान की और फ्रेंच आतंकवाद विरोधी दल ने इस घटना की जाँच शुरू की है।

‘नीस’

इस हमले के बाद फ्रान्स के राष्ट्राध्यक्ष इमैन्युएल मैक्रॉन ने नीस जाकर देश की सुरक्षा के लिए तैनात लष्करी सैनिकों की संख्या बढ़ाने का ऐलान किया। अगले कुछ दिनों में फ्रान्स में प्रार्थना स्थान एवं स्कूलों के साथ अहम ठिकानों पर सात हज़ार सैनिकों की तैनाती होगी, यह बयान राष्ट्राध्यक्ष मैक्रॉन ने किया। फ्रान्स की सुरक्षा के लिए खतरा ‘इमर्जन्सी लेवल’ तक बढ़ाने की जानकारी प्रधानमंत्री जीन कास्टे ने साझा की है। फ्रान्स में फिलहाल तीन हज़ार सैनिक तैनात हैं।

फ्रान्स में हुए इस आतंकी हमले के बाद विश्‍वभर से इस हमले का निषेध किया जा रहा है। भारत और ब्रिटेन के प्रधानमंत्रियों ने इस हमले की निंदा करके इस समय हम फ्रान्स के साथ है, यह बात कही। नाटो ने भी हम फ्रान्स के साथ खड़े हैं, यह वादा किया। बीते पांच वर्षों से फ्रान्स लगातार आतंकी हमलों का लक्ष्य होने की बात सामने आयी है। वर्ष २०१५ से अब तक फ्रान्स में कम से कम १० बड़े आतंकी हमले हुए हैं।

English       मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info