Breaking News

भूमध्य समुद्र में जारी हरकतों पर जर्मनी की तुर्की को चेतावनी

बर्लिन/अथेन्स/अंकारा – तुर्की ने पहले भी बातचीत करने में रुचि होने का बयान कई बार किया है। चर्चा के लिए यदि वह गंभीर हैं तो वह एक ही समय पर तनाव कम करने की कोशिश और उसी समय उकसानेवाली हरकते जारी रखने का खेल बंद करे। ग्रीस ने किए दावे के क्षेत्र में र्इंधन का खनन करने की मुहिम तुर्की शुरू ना करे, ऐसा स्पष्ट इशारा जर्मनी के विदेशमंत्री हैको मास ने दिया है। तुर्की ने सोमवार के दिन अपने जहाज़ दुबारा भूमध्य समुद्री क्षेत्र में अनुसंधान के कार्य के लिए रवाना किए हैं। इससे इस क्षेत्र में दुबारा तनाव बढ़ने के संकेत प्राप्त हो रहे हैं और इस पृष्ठभूमि पर जर्मनी ने दिया हुआ इशारा अहमियत रखता है।

अगस्त महीने में तुर्की ने ‘नैवटेक्स अलर्ट’ जारी करके अपना ‘ओरूक रेईस’ नामक ‘रिसर्च शिप’ दो जहाज़ों के साथ भूमध्य समुद्री क्षेत्र में अनुसंधान के कार्य के लिए रवाना किया था। तुर्की की इस हरकत पर ग्रीस से तीव्र प्रतिक्रिया प्राप्त हुई थी। भूमध्य समुद्र की शांति और स्थिरता को खतरा पहुँचानेवाली अवैध हरकतें तुर्की तुरंत बंद करे, यह इशारा ग्रीस ने दिया था। अमरीका के साथ यूरोपिय महासंघ एवं नाटो ने भी तुर्की की गतिविधियों पर नाराज़गी व्यक्त की थी। तुर्की की गतिविधियों की वजह से तनाव बढ़ने से फ्रान्स ने भूमध्य समुद्र में अपनी रक्षा तैनाती मज़बूत करने का निर्णय करने का ऐलान करके अपनी ‘ला फाएत’ विध्वंसक एवं रफायल विमान तैनात किए हैं। लेकिन, तुर्की ने अपनी मुहिम जारी रखने से इस क्षेत्र में तनाव बढ़ा था। अमरीका और यूरोपिय महासंघ ने इस विवाद में ग्रीस का समर्थन करके तुर्की पर दबाव डालना शुरू किया था। इस दबाव की वजह से तुर्की ने बीते महीने में अपने जहाज़ भूमध्य समुद्री क्षेत्र से वापिस बुलाकर ग्रीस के साथ चर्चा शुरू की थी।

बीते सप्ताह में यूरोप के एक अभ्यासगुट के कार्यक्रम के दौरान ग्रीस और तुर्की के विदेशमंत्रियों में भी चर्चा हुई थी। इस पृष्ठभूमि पर तुर्की ने दुबारा अपने जहाज़ भेजकर उकसाने का काम किया हुआ दिख रहा है। तुर्की की नौसेना ने ‘नैवटेक्स अलर्ट’ जारी करके ‘ओरूक रेईस’ नामक ‘रिसर्च शिप’, अथामान एवं सेंगीज हान जहाज़ों के साथ ग्रीक के कैस्टेलोरिज़ो द्विप के करीबी क्षेत्र में रवाना किए हैं। यह तीनों जहाज़ २२ अक्तुबर तक इस क्षेत्र में कार्यरत रहेंगे, यह भी कहा गया है। तुर्की र्इंधन की खोज जारी रखेगा और अपने अधिकारों की भी रक्षा करेगा, इन शब्दों में तुर्की के ऊर्जामंत्री ने इस मुहिम का समर्थन किया। यदि, इस क्षेत्र में र्इंधन की खोज होती है तो तुर्की खनन कार्य शुरू करेगा, यह इशारा भी तुर्की के मंत्री ने दिया है।

तुर्की की इस कार्रवाई पर ग्रीस ने आक्रामक प्रतिक्रिया दर्ज़ की है। तुर्की अपना निर्णय तुरंत रद करे। नई महिम जानबूझकर तनाव बढ़ाने की कोशिश है। तुर्की की कार्रवाई भूमध्य समुद्री क्षेत्र की शांति और सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा बनता है, यह आरोप ग्रीस के विदेश मंत्रालय ने किया है। चर्चा जारी रहते हुए दुबारा मुहिम की यह हरकत तुर्की विश्‍वासार्ह देश ना होने की बात दिखा रहा है, ऐसी फटकार ग्रीस ने लगाई है।

अमरीका और यूरोपिय महासंघ ने ग्रीस-तुर्की विवाद में ग्रीस के समर्थन में ड़टकर खड़े होने के संकेत दिए हैं। कुछ दिन पहले ही यूरोपिय महासंघ की बैठक में भूमध्य समुद्र में जारी हरकतों के मुद्दे पर तुर्की पर प्रतिबंध लगाने का इशारा भी दिया गया था। इसके बाद अब महासंघ का अध्यक्ष पद सभाल रहे जर्मनी ने किया बयान ध्यान आकर्षित करनेवाला साबित होता है। इसी बीच जर्मनी के विदेशमंत्री हैको मास बुधवार के दिन तुर्की की यात्रा कर रहे हैं, यह जानकारी भी सामने आयी है।

English     मराठी

इस समाचार के प्रति अपने विचार एवं अभिप्राय व्यक्त करने के लिए नीचे क्लिक करें:

https://twitter.com/WW3Info
https://www.facebook.com/WW3Info